तमिलनाडु सरकार का बड़ा फैसला: स्‍कूलों में लड़कियों के पायल पहनने पर प्रतिबंध, वजह जानकर आप भी इनकी सोच को सलाम करोगे

देशभर में ना जानें कितनी ऐसी जगह हैं जहाँ लोग पुरानी परम्पराओं और कुरीतियों के हिसाब से अपना जीवन व्यापन कर रहे हैं. इसके बावजूद भी देश के अलग-अलग हिस्सों में लड़कियों और महिलाओं के साथ कृत्य घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. इसी बीच तमिलनाडु से एक बहुत बड़ी खबर आ रही है, जिसे जानने के बाद आप भी वहां की सरकार पर हंस पड़ेंगे. जी हाँ तमिलनाडु सरकार ने स्कूल की लड़कियों पर ऐसा प्रतिबंध लगाया है कि आप भी बिना हँसे नहीं रह पाएंगे.

Image Source-Elite Readers

जानकारी के लिए बता दें तमिलनाडु सरकार ने स्कूल में पढ़ने वाली लड़कियों को लेकर जो फैसला लिया है, उसको लेकर इस समय हर जगह चर्चा हो रही है. शिक्षा विभाग ने स्कूल में पढ़ने वाली लड़कियों के पैरों में पायल पहनने और बालों में फूल लगाने पर रोक लगाने का फैसला लिया है. शिक्षा विभाग ने सीधे फरमान सुना दिया है कि स्कूलों में लड़कियां बालों में फूल और पैरों में पायल पहनकर बिलकुल नहीं आएँगी. वहीँ शिक्षा मंत्री ने इसके पीछे की जो वजह बताई है, उसे जानकर आप भी कहेंगे वाह क्या सोचना है इनका..

Image Source-Deccan Chronicle

शिक्षा मंत्री और विभाग का मानना है लड़कियों के पायल पहनने और बालों में फूल लगाकर आने से लड़कों का ध्यान भटकता है. जिससे उनकी पढ़ाई में अवरोध उत्पन्न होता है. तमिलनाडु सरकार के इस फैसले के संबंध में कई समाचार पत्रों ने समाचार प्रकाशित किये हैं. हाल ही में तमिलनाडु के स्कूली शिक्षा मंत्री केए सेनगोट्टाईयन अपने विधानसभा क्षेत्र गोबीचेट्टीपाल्यम में गए थे, वहां बच्चों को निशुल्क साइकिल बांटने के लिए गये मंत्री जी ने इस संबंध में ये बड़ा बयान देकर सभी को चौंका दिया.

Image Source-Bold sky hindi

पत्रकारों से बातचीत के दौरान शिक्षा मंत्री ने सफाई देते हुए कहा है कि ” जब कोई अंगूठी पहनता है और बाद में उसके खो जाने की शिकायत करता है.  इससे पीड़ित के मन में चुराने वाले के प्रति मानसिक कटुता पैदा हो जाती है. जब पायल पहनी जाती है और उसके घुंघरू की आवाज सुनाई देती है तो लड़कों की पढ़ाई में व्यवधान पैदा होता है और उनका ध्यान भटक जाता है. यद्यपि कोई लड़की अगर बालों में फूल लगाती है तो इस पर किसी को कोई आपत्ति नहीं है.” मंत्री जी की इस सोच के बाद लोग उन्हें सलाम कर रहे हैं.

News Source=Jansatta

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *